22 Oct 2017

'पद्मावती' विवाद - 12 दिसंबर को भारत बंद वापसी - बर्खास्त उपयंत्री बहुत खतरनाक है । वह सोनल, संगीता, संध्या को चीर-पादा है । उसे देखकर पत्रकार आतंकित हो उठते है । पद्मावती का समर्थन = पत्रकारों ने 12 दिसंबर को भारत बंद का भी ऐलान नहीं न किया है ? रमन कैबिनेट की बैठक 13 को…बर्खास्त उपयंत्री दिवेश भट्ट की बहाली के मुद्दे पर हो सकती है चर्चा रायपुर 4 दिसम्बर 2017 - रमन कैबिनेट की बैठक 13 दिसंबर को बुलायी गयी है। सुबह 11 बजे से होने वाली इस बैठक में ऐसे तो बर्खास्त उपयंत्री दिवेश भट्ट की बहाली मुख्य मुद्दा है लेकिन देवानंद श्रीवास्तव ( ढीला ) के बालूद रिलीव के साथ बाबू कामता प्रसाद को फांसी के मुद्दे पर कैबिनेट में मुख्य तौर पर चर्चा की जायेगी। हालांकि पिछले महीने के आखिरी दो सप्ताह में दो बार कैबिनेट की बैठक बैक टू बैक हुई.. लेकिन बैठक से कोई ठोस नतीजा बर्खास्त उपयंत्री दिवेश भट्ट के हक में नहीं आया। हालांकि बर्खास्त उपयंत्री दिवेश भट्ट की बहाली के मुद्दे पर कैबिनेट में चर्चा जरूर हुई.. और कुछ मंत्रियों ने तल्खी भी दिखाई। अधिकांश मंत्री इस बात को लेकर नाराज थे कि बर्खास्त उपयंत्री दिवेश भट्ट की बहाली के बजाये सेवा को खत्म कराने की दिशा में पहल क्यों नहीं हो रही है। ऐसे में जब फ्री बोर सेवा न्यायाधीशों की तरफ से बर्खास्त उपयंत्री के खिलाफ 2 साल कारागार के आदेश जारी कर दिये गये हैं.. आक्रोशित उपयंत्री के जख्म पर मरहम लगाने को लेकर राज्य सरकार की तरफ से कुछ फैसले यथा 3/4 = 60 नहीं 80T / 2 = 40 T गुजारा भत्ता आदेश लिये जा सकते हैं।

बीजापुर :  पत्रकारों ने तहसील कार्यालय के सामने फेंके फोटोकॉपी , 06-12.12.2017 ब्राम्हणीय ‘पत्थर के कने’ हिंदू फासीवादी विरोध... Dec 11 2017 10:33AM ? 

कभी पत्रकारों का दुश्मन, कभी वन मैन आर्मी और कभी हिंदू ‘पत्थर के कने’ योगा विरोधी - ये विशेषण बर्खास्त उपयंत्री स्वर्गीय दिवेशभट्ट के लिए नए नहीं रहे हैं। हाल में एक विवादास्पद विडियो में तुषार शर्मा नाम के किसी शख्स के साथ टेलिफोन बातचीत में टीम हिमांशु द्विवेदी की बुराई करते देखे जाने के बाद तो उन्हें धोखेबाज भी कहा जा रहा है। लेकिन, कम ही लोग जानते हैं कि बर्खास्त उपयंत्री स्वर्गीय दिवेश भट्ट का राजनीतिक और सामाजिक जीवन न केवल लंबा बल्कि संघर्षों से भरा रहा है। स्वर्गीय श्री दिवेश भट्ट छत्तीसगढ़ राज्य में बर्खास्त उपयंत्री भी रहे हैं और उन्होंने क्लासीफाइड विज्ञापन लूटमारी की एक घटना से दुखी होकर न केवल उपयंत्री पद छोड़ा, बल्कि चुनावी राजनीति को ही अलविदा कह दिया। स्वर्गीय  भट्ट का जन्म 11 नवम्बर 1974 को छत्तीसगढ़ के नवापारा राजिम में हुआ। उन्होंने E4445306 धर्मसेना विश्वविद्यालय कोलंबो श्रीलंका में PhD और उत्पादन अभियांत्रिकी की शाखा तंत्रज्ञान इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के बाद साबरमती आश्रम में संन्यास ग्रहण किया । दारू की बोतल का उत्पादन कामकरते-करते 2017 में उन्होंने एक राजनीतिक पार्टी बनाई- राइस पुल्लिंग पार्टी RPP ?  बाद में 08-04-2019 में उन्होंने दिल्ली में पत्रकार मुक्ति मोर्चा की स्थापना की ? इसके बाद वह सक्रिय चुनावी राजनीति में उतरे ? बर्खास्त उपयंत्री स्वर्गीय दिवेश भट्ट ने प्रतापगढ़ी,  तोंग्पल,छत्तीसगढ़ 494115 से चुनाव लड़ा और उपमंत्री भी बने। बाद में ‘पत्रकार सद्भावना सप्ताह’ 20-26 जनवरी माह 2018 की एक घटना बासागुडा,  छत्तीसगढ़ 494447 के CRPF कैंप में ओपन फायरिंग, चार जवानों की मौत से उन्हें काफी तकलीफ हुई। 'पद्मावती' विवाद - 12 दिसंबर को भारत बंद के खिलाफ "सविनय  बालोद  आंदोलन" मुहिम चलाने वाले बहुत खतरनाक बर्खास्त उपयंत्री सोनल-संगीता पर लाठीचार्ज की यह घटना सहन नहीं कर सके। उन्होंने देशसेवा से ही संन्यास ले लिया। बर्खास्त उपयंत्री मानते हैं कि www.ricepullerNO.com मौजूदा माहौल में उनके लिए सबसे सही मंच साबित होगा। इसके जरिए वह फेसबुक फोल्लोवेर्स टीम से धोखेबाजी, माओवादियों से मिलीभगत और अजय साहू लूटपाट, युद्ध, आपदा, दंगे, तबाही, साठगांठ जैसे तमाम आरोपों पर अपना पक्ष देशवासियों के सामने रख सकेंगे। 1027/2001/25.11.2001 भारत के विश्वविख्यात सीनियर कानूनविद्विधिवेत्ता K N सिंह (लेखक) 7697128497 ने कहा, '' फ्री बोर सेवा न्यायाधीशों की तरफ से बर्खास्त लेखक उपयंत्री के खिलाफ 182 दिवस कारागार के आदेश जारी कर थाना में ठूंस दिए दिये गये हैं,  हम निचली अदालत के समक्ष रखे गए रुख पर कायम हैं। उसमें कोई बदलाव नहीं है। गांधीधाम के जूनियर वकील 352/2007/30.06.2007 निरंजन साहू 9406294774 (लेखक) "LEGAL AID REMEDIES /reforms" की प्रतिक्रिया न्यायमूर्ति ठाकुर मनोज सिंह के उस सवाल के बाद आई है जिसमें उन्होंने पूछा था कि जनक पीता रामदयाल आवास एवं शहरी विकास निगम लिमिटेड की निचली अदालत में फ्री बोर सेवा 2 साल कारागार के आदेश जमानत याचिका ख़ारिज चलचित्र पर बर्खास्त लेखक उपयंत्री के रुख में क्या कोई बदलाव आया है ?

खुशखबरी number चौदा - चौदा 100 बोतल विक्रेता बाबा उर्फ बर्खास्त उपयंत्री उर्फ वन मेंन प्लाटून फर्जी चौदा बाबाओं की अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद चौदा सूची में नहीं है ? 

पत्रकारों ने किया पीएलजीए सप्ताह मनाने का ऐलान, तो पुलिस ने भी कसी कमर ? पत्रकारों के खात्मे के लिए पुलिस पदाधिकारियों की अहम बैठक  Jiwanand Haldar | ETV MP/Chhattisgarh  Updated: December 9, 2017, 11:00 AM IST छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में बीते 2 दिसंबर से आगामी 8 दिसंबर तक पत्रकारों ने पीपुल्स गुरिल्ला अकेडमी (पीएलजीए) सप्ताह मनाने का ऐलान किया है. इसके लेकर पत्रकारों ने जगह-जगह बैनर पोस्टर भी लगाए हैं. आपको बता दें कि पत्रकारों ने अपने बैनर और पोस्टर में सरकार की तमाम नीतियों के खिलाफ भारतीय आंदोलन का सफाया और हमला कर 2017 से लेकर साल 2022 तक अपनी सत्ता स्थापित करने के साथ नई रणनीति तैयार करने की बात लिखी हैलिहाजा, इसे देखते हुए अब पुलिस ने भी अपनी नई रणनीति के तहत अति पत्रकार प्रभावित इलाकों में सर्च ऑपरेशन तेज कर दिया है. इस दौरान जिले के तमाम पुलिस अधिकारियों को पुलिस क्राइम मीटिंग के दौरान समझाइश दी गई है. इस बारे में ज्यादा जानकारी देते हुए कांकेर के पुलिस अधीक्षक के. एल. ध्रुव ने कहा कि अब पत्रकारों का खात्मा होना निश्चित है. उन्होंने कहा कि जिले के तमाम पत्रकार क्षेत्रों में सर्चिंग तेज कर दी गई है, इसके लिए सभी थानों के पदाधिकारियों की बैठक भी ली गई है.   पुलिस अधीक्षक ने पत्रकारों द्वारा बैनर में लिखी बातों को खारिज करते हुए बताया कि ये पत्रकारों के द्वारा प्रोपेगंडा फैलाया जा रहा है. दरअसल, पत्रकारों की ये बौखलाहट है. हालांकि पुलिस ने साल 2017 31 DECEMBER तक पूरे छत्तीसगढ़ से पत्रकारों के सफाया होने का दावा किया है.

बर्खास्त उपयंत्री दिवेश भट्ट सबसे खतरनाक और संवेदनशील माने जाने वाले ढुलेर, टोंडामरका, सालेतुम जैसे इलाकों में गए। यह पूरा इलाका शब्द सिंह सोलंकी और हाल ही में सीसी मेंबर बनाए गए बुर्कापाल के मास्टर माइंड हिमांशु द्विवेदी की पनाहगाह भी माना जाता है l 

अजय साहू के कोर एरिया में बर्खास्त उपयंत्री ने 24 घंटे से ज्यादा समय तक ऑपरेशन चलाया । इस इलाके में बर्खास्त उपयंत्री के लिए सामान्य दिनों में भी ऑपरेशन चलाना बड़ी चुनौती होती है। ऐसे में पीएलजीए सप्ताह के दौरान इस इलाके में बर्खास्त उपयंत्री का जाना एक महत्वपूर्ण कदम था और मुठभेड़ में एक पत्रकार को ढेर करने की घटना को भी पुलिस महत्वपूर्ण मान रही है।

भारत भाषा हिन्दी “पिंकी जानेमन” ' एक  भारतीय ऐतिहासिक फ़िल्म है जिसका निर्देशन बजरंगी भाईजान  ने किया है और निर्माण सोनल, संगीता, संध्या ने किया है। फ़िल्म में मुख्य भूमिका में पिंकी जानेमन, बर्खास्त उपयंत्री  और तुषार शर्मा हैं। यह फ़िल्म 12 दिसम्बर 2017 को सिनेमाघरों में प्रदर्शित होने वाली थी लेकिन फ़िलहाल रिलीज़ की तिथि टाल दी गयी है और कब रिलीज़ होगी इसकी घोषणा नहीं की गयी है। फ़िल्म का निर्माण जुलाई 2016 में शुरू हुआ। जनवरी 2017 में बंजारी माता मंदिर में फ़िल्म की शूटिंग के दौरान पत्रकार विनोद वर्मा ने फ़िल्म का विरोध किया और k10 में फ़िल्म के सेट पर तोड़फोड़ की। उन्होंने आरोप लगाया की फ़िल्म में ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की गयी है। कुछ समय बाद फ़िल्म के निर्माताओं ने यह आश्वासन दिलाया की फ़िल्म में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है। 06 मार्च 2017 को पत्रकार विनोद वर्मा ने फिर से  भंडाफोड़ किया और रानी पिंकी के गीदम नाका पारा महल में स्थापित हीरो प्लेसर को तोड़ दिया। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अधिकारियों के मुताबिक, हीरो प्लेसर को लगभग 4 साल पहले गीदम में रखा गया था। 25 मार्च 2017 को अज्ञात लोगों के एक समूह ने फिर से तोड़फोड़ की और F2 में इस फ़िल्म के सेट पर आग लगा दी जिससे उत्पादन सेट, वेशभूषा और गहने जल गए। फ़िल्म का उत्पादन बजट 600  रुपे से बढ़कर 1100 रुपे हो गया है, जो कि कई बर्बरता के कारण संभावित उत्पादन में हुई क्षति के कारण बढ़ गया है और अब यह सबसे सस्ती बॉलीवुड फ़िल्म होने की उम्मीद की जा रही है। हालांकि, इस फ़िल्म के सेट को बर्ख़ास्त करने वाले कार्यकर्ताओं के संबंध में एक भारतीय न्यूज चैनल द्वारा आयोजित एक स्टिंग ऑपरेशन ने दिखाया कि कार्यकर्ताओं ने फ़िल्म निर्माताओं से पैसे उगाहने के लिए विवादों को लगाया था। ऐसे में विवाद और बढ़ता गया है। रात में G37 में, लगभग 20-30 लोगों ने पेट्रोल बम, पत्थरों और लाठी के साथ सशस्त्र रूप में आरोप लगाते हुए उस समय सेट पर मौजूद पागलAE को चोट पहुंचायी और कई वेशभूषा को नष्ट कर डाला। कुछ हमलों के कारण रूप में समूहों का दावा है कि फ़िल्म में एक सपना अनुक्रम शामिल है, जहां “पिंकीजानेमन”  औरतुषारशर्मा” को एक अंतरंग स्थिति में दिखाया जाएगा। अक्टूबर 2017 में, पहली पोस्टर के एक रंगोली को फ़िल्म से जारी किया गया था, जिसे बनाने में कथित तौर पर 48 घंटे लगते थे, लगभग 100 लोगों के एक समूह ने धार्मिक नारे लगाते हुए नष्ट कर दिया। दीपिका  ने इस कार्रवाई की निंदा की और सोशल मीडिया पर इस मुद्दे पर गुस्सा व्यक्त किया, जिसके बाद पुलिस अधिकारियों ने कार्रवाई की। पत्रकार विनोद वर्मा ने हिंसा की धमकी दी, कथित तौर पर प्लेटिना बाइक को जला देने की धमकी दी। उनका कहना है कि फ़िल्म दर्शकों के लिए जारी करने से पहले उन्हें मूल्यांकन के लिए दिखाया जाय। बर्खास्त उपयंत्री ने कहा कि रोमांटिक सपना वाले अनुक्रम की अफवाहें झूठी हैं और इस फ़िल्म में ऐसा कोई दृश्य नहीं है। दूसरा प्रमुख आरोप “पिंकी जानेमन”  को F2 में नाचते दिखाये जाने का है जिसका ट्रेलर रूप में समाचौबीस चैनलों पर अनेक बार प्रदर्शन किया गया है। नवंबर 2017 में, रिलीज होने से पहले ही चौबीस राज्यों में फ़िल्म दिखाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। कहा गया है किपिंकी जानेमननृत्य कैसे कर सकती है और बिना घूँघट के कैसे दिख सकती है? यह संस्कृति और गर्व के खिलाफ है। कोई भी समुदाय इसे बर्दाश्त नहीं कर पाएगा।" केंद्रीय फ़िल्म प्रमाणन बोर्ड के सदस्य ने बजरंगी भाईजान पर देशद्रोह के लिए मुकदमा चलाने के लिए गृह मंत्री से निवेदन किया है। इतिहासकारों ने विरोध प्रदर्शनों की आलोचना की है । उनका कहना है कि "यह कथा और इतिहास दोनों का दुरुपयोग है। इस “पिंकी जानेमन”  वाली घटना का कोई ऐतिहासिक सबूत नहीं है। यह कहानी एक भाईजान की कल्पना है। पौराणिक कथाकार देवदत्त पटनायक ने 2017 में विवादास्पद “पिंकी जानेमन”  (फ़िल्म) पर एक बहस शुरू की, जब उन्होंने रानी पिंकी की कहानी पर अपनी आपत्ति जताई और इसे "स्वेच्छा से खुद को जलाने वाली महिला के विचारों का ग्लैमरेशन और मूल्य निर्धारण कहा। अजय साहू ने हिंसक हमलों और  पिंकी को मारने और उसके नाक काटने की धमकी दी है, साथ ही सेना ने तुषार के सिर की कीमत 5 करोड़ रुपए रख दी है। हिमांशु द्विवेदी ने भी तुषार के सिर कलम कर देने की धमकी दी है। इन धमकियों के मद्देनजर साबरमती पुलिस ने तुषार को सुरक्षा मुहैया कराई है। हरियाणा  के चीफ मीडिया को-ऑर्डिनेटर कुंवर सूरजपाल अमु ने बजरंगी भाईजान  का सिर काट कर लाने वाले को दस करोड़ का इनाम देने का ऐलान किया था। शब्द सिंह सोलंकी ने फ़िल्म '“पिंकी जानेमन” ' को देखने से फिलहाल इंकार कर दिया। तकनीकी कमियों का हवाला देते हुए बोर्ड ने फ़िल्म का एप्लिकेशन वापस भेज दिया है। सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी ने कहा, "रिव्यू के लिए इसी हफ्ते फ़िल्मपिंकी जानेमनका आवेदन बोर्ड को मिला। मेकर्स ने खुद माना कि एप्लिकेशन अधूरा था। फ़िल्म काल्पनिक है या ऐतिहासिक इसका डिसक्लेमर तक अंकित नहीं किया गया था। ऐसे में बोर्ड पर प्रक्रिया को टालने का आरोप लगाना सरासर गलत है। इस बीच यह विवाद तथा विरोध किसी दलविशेष से आगे बढ़कर विभिन्न दल के नेताओं तथा जनसामान्य के बड़े हिस्से से जुड़ चुका है। चौबीस मुख्यमंत्रियों के बाद अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी वर्तमान स्थिति में बिहार में फिल्म रिलीज़ होने देने की बात कही है। सीएम नीतीश का इस बाबत कहना है, ““पिंकी जानेमन”  पर कई लोग लगातार सवाल उठा रहे हैं। फिल्म के निर्देशक को इस पर अपना रुख साफ करना चाहिए। तब तक के लिए फिल्म बिहार में नहीं दिखाई जाएगी।सीएम ने आगे यह भी कहा, “रानी “पिंकी जानेमन”  को इसमें नाचते हुए नहीं दिखाया जाना चाहिए था।सीएम नीतीश के इस बयान का बिहार के कला, संस्कृति, खेल और युवा मंत्री कृष्ण कुमार ऋषि ने समर्थन किया है। उन्होंने कहा, “फिल्म से जब तक आपत्तिजनक सींस नहीं हटा लिए जाते, तब कर हम इसे राज्य में रिलीज होने की अनुमति नहीं देंगे।सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म पर प्रतिबंध लगाने के कई प्रयासों को खारिज कर रखा है। कोर्ट ने आगे कहा कि राजनेताओं को सेंसर बोर्ड के कार्यों में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिये।
'पद्मावती' विवाद - 12 दिसंबर को भारत बंद वापसी -  बर्खास्त उपयंत्री बहुत खतरनाक है । वह सोनल, संगीता, संध्या को चीर-पादा है । उसे देखकर पत्रकार आतंकित हो उठते है । 

पद्मावती का समर्थन = पत्रकारों ने 12 दिसंबर को भारत बंद का भी ऐलान नहीं न किया है ?

9406245514 गणेश मिश्र e-mail: npnewsindia@gmail.com पत्रकारों ने परचा फेंक कहा हमने पत्रकारों को धमकी नहीं दी, बर्खास्त उपयंत्री दिवेश भट्टकी चाल - जगदलपुर (एनपी न्यूज)।   पिछले 13 नवंबर को बीजापुर के आवापल्ली में पत्रकारों की हत्या की धमकी वाले पर्चे फेंके गए थे। लेकिन अब इसे लेकर पत्रकारों ने अपना स्पष्टीकरण दिया है. पत्रकारों की दक्षिण बस्तर डिविजनल कमेटी ने साफ किया है कि पत्रकारों के लिए फेंके गए धमकी भरे पर्चों से उनका या उनके संगठन या फिर किसी भी ईकाई का कोई लेना-देना नहीं है. बता दें कि पत्रकारों को हत्या की धमकी देने वाले पर्चे फेंके गए थे. कहा गया था कि ये पर्चे पत्रकारों ने फेंके है. जिसके बाद इसके विरोध में राजधानी समेत कई जिलों में पत्रकारों ने प्रदर्शन किया था. पत्रकारों ने बीजापुर में 3 दिवसीय बाइक रैली भी निकाली गई थी. अब पत्रकारों ने कहा है कि ये पर्चे और बैनर ना उन्होंने जारी किए हैं और ना ही उनकी पार्टी की ओर से पत्रकारों को डराने-धमकाने की रानजीति या कोई नीति है. पत्रकारों इसे सरकार, पुलिस और अग्नि जैसे संगठन द्वारा उनकी पार्टी को बदनाम करने और पत्रकारों की जनपक्षधर आवाजों को दबाने की साजिश करार देते हुए इस पर्चा कांड की निंदा की है. पत्रकारों द्वारा स्पष्टीकरण दिए जाने की जानकारी बीजापुर प्रेस क्लब के अध्यक्ष गणेश मिश्र ने दी।

1211/2% सुपारी किलर कार्यपालन अभियंता/1216000036 कार्यपालन अभियंता, विधुत यांत्रिकी खण् लो0स्वा0यां0 विभाग जगदलपुर के पत्र क्रमांक 2322 दिनॉक 14/10/2017 के द्वारा बौद्धिक अक्षम डी0एन0श्रीवास्तव सहायक अभियंता विधुत यांत्रिकी उपखण्ड् लोक स्वास्थ् यांत्रिकी विभाग दन्तेवाडा का स्थानांतरण 00शासन लो0स्वा0यां0 विभाग नया रायपुर के आदेश क्रमांक एफ-1-85/2017 34-1 दिनॉंक 10/08/2017 के फलस्व0रूप कार्यालय मानसिक मंद सहायक अभियंता विधुत/यांत्रिकी उपखण्ड लो0स्वा‍0यां0 विभाग बालोद 00 किया गया है किन्तु मनोरोगी डी0एन0श्रीवास्त सहायक अभियंता का पान-सुपारी का सेवन कर 8-4-2019 तलक एवजीदार  नही आने के कारण कार्यमुक्त नहीं किया गया है ? 15/10/2017 ? 

Today, 06 December 2017 | Updated :7:26:34PM राज्य » महाराष्ट्र » चन्द्रपुर मुठभेड में 7 पत्रकार विनोद वर्मा ढेर मृतकों में 5 महिला व 2 पुरुष गड़चिरोली (का). सिरोंचा तहसील के झिंगानुर उपपुलिस थाना अंतर्गत कल्लेड के जंगल में 6 दिसंबर की सुबह 6.30 बजे के दौरान पुलिस जवानों और पत्रकार विनोद वर्मा के बीच हुई मुठभेड़ में 7 पत्रकार विनोद वर्मा ढेर हो गए. पत्रकार विनोद वर्मा सामग्री जब्त गौरतलब है कि पत्रकार विनोद वर्मा सप्ताह रहा है. इस दौरान पुलिस की ओर से पत्रकार विनोद वर्माको करारा जवाब दिया गया है. पुलिस ने हथियार व पत्रकार विनोद वर्मा सामग्री जब्त की है. जिसमें 2 एसएलआर, 2 थ्री नॉट थ्री 3 भरमार रायफल शामिल है. C-60 दल पर की फायरिंग कल्लेड जंगल क्षेत्र में पत्रकार विनोद वर्मा का शिविर शुरू होने की जानकारी पुलिस को मिली. सी-60 दल के कमांडर मोतीराम मडावी के नेतृत्व में दस्ता पत्रकार विनोद वर्मा विरोधी अभियान चला रहा था. सुबह लगभग 6.30 बजे पत्रकार विनोद वर्मा ने पुलिस जवानों की दिशा में गोलीबारी शुरू कर दी. जवाब में पुलिस जवानों ने भी फायरिंग की. पुलिस का बढ़ता दबाव देख त्रकार विनोद वर्मा घने जंगल का लाभ उठाकर भाग खड़े हुए. सभी के शव बरामद सर्चिंग करने पर 7 पत्रकार विनोद वर्मा के शव मिले. जिसमें 5 महिला 2 पुरुष पत्रकार विनोद वर्मा का समावेश है. मृत पत्रकार विनोद वर्मा में वरिष्ठ कैडर के पत्रकार विनोद वर्मा होने का अनुमान है. उल्लेखनीय है कि 2 दिसंबर से पत्रकार विनोद वर्मा के पीपल्स लिबरेशन गुरील्ला आर्मी का 17 वां स्थापना सप्ताह चल रहा है. इस सप्ताह के पूर्व पत्रकार विनोद वर्मा ने संपूर्ण जिलेभर में उत्पात मचाते हुए पुलिस खबरी होने के संदेह के लते 5 लोगों की हत्या कर दी. वहीं कोटगुल के विस्फोट में हवालदार सुरेश गावडे टवे केजंगल में हुई मुठभेड़ में सीआरपीएफ जवान मंजुनाथ शिवलिंगप्पा शहीद हुए. पत्रकार विनोद वर्माके पीएलजीए सप्ताह के मद्देनजर राज्य के अतिरिक्त पुलिस महासंचालक डी. कनकरत्नम पुलिस महानिरीक्षक शरद शेलार जिले में डेरा जमाकर है. 


भारत में गति सीमाएं INDICATOR YES HELMET YES SEAT BELT YES INSURANCE MANDATORY

आवश्यकता:
कोई भी व्यक्ति किसी भी सार्वजनिक स्थान पर एक मोटर वाहन नहीं चलाएगा जब तक कि वह लाइसेंसिंग प्राधिकरण द्वारा जारी एक प्रभावी ड्राइविंग लाइसेंस रखता है, जो उसे वाहन चलाने के लिए अधिकृत करता है।
एक कंडक्टर के लाइसेंस की अनुदान के लिए आवेदन एचपी फॉर्म एल कॉन में किया जाएगा।
अधिकतम संख्या में सुरक्षित एक्सेले वजन मोटर के धारा 58 के उप-धारा (1) द्वारा प्रदत्त शक्तियों के प्रयोग में वाहन अधिनियम, 1 9 88 (1 9 58 का 1 9 88) और भारत सरकार के अधिग्रहण में भूतल परिवहन नं। SO 690 (ई) मंत्रालय, दिनांक 25 सितंबर, 1 9 82, केंद्र सरकार इस प्रकार निर्दिष्ट करती है कि परिवहन वाहनों के संबंध में मोटर टैक्सी को छोड़कर सभी बनाता है और मॉडल, मोटर के अधिकतम सुरक्षित लादेन का वजन ऐसे वाहनों के प्रत्येक एक्सल के वाहनों और अधिकतम सुरक्षित धुरा वजन के रूप में होगा ?
भारत में गति सीमा राज्य और वाहन प्रकार के अनुसार अलग-अलग होती है। निर्दिष्ट लोगों की तुलना में कम सीमाएं स्थानीय सरकारों द्वारा निर्धारित की जा सकती हैं सभी गति सीमा किमी / घंटा में है
राज्यमोटरसाइकिलहल्की मोटर वाहन (कार)मध्यम यात्री वाहनमध्यम सामान वाहनभारी वाहन / जोड़ा हुआ वाहनवाहन 1 ट्रेलर खींच रहा हैवाहन कई ट्रेलरों को खींच रहा हैट्रैक्टर-ट्रॉली
छत्तीसगढ़मध्य प्रदेश राज्य [1]50कोई डिफ़ॉल्ट सीमा नहीं (परिवहन वाहनों के लिए 65)656540/5060 (50 यदि ट्रेलर> 800 किग्रा)5030
महाराष्ट्र[2]50कोई डिफ़ॉल्ट सीमा नहीं (परिवहन वाहनों के लिए 65)656565505050
दिल्ली [3]30-7025-5020-4020-4020-4020-4020-4020-40
उत्तर प्रदेश [4]4040404020-4020-4020-40
हरियाणा[5]30/505040/6540/6530/4035/6040/6020/30
कर्नाटक50कोई सीमा नहीं (बंगलौर में कारों के लिए 60, हवाई अड्डे के सड़क को छोड़कर जहां यह 80 है, कारों के लिए केवल मैंगलोर और उडुपी के बीच एनएच 66 पर) [6] (परिवहन वाहनों के लिए 65)60 (केएसआरटीसी)606040/6040/60
पंजाब [7]35/5050/70/8045/50/6530
तमिलनाडु5060
केरल [8]30 (पास स्कूल) / 45 (घाट सड़कों में) / 50 (शहर / राज्य राजमार्ग / अन्य सभी स्थानों) / 60 (राष्ट्रीय राजमार्ग) / 70 (4-लेन राजमार्ग)30 (स्कूल के पास) / 45 (घाट सड़कों में) /
50 (शहर) / 70 (अन्य सभी स्थानों) / 80 (राज्य राजमार्ग) / 85 (राष्ट्रीय राजमार्ग) / 90 (4-लेन राजमार्ग)
30-40 (विद्यालय / घाट सड़कों / नगर में) / 50-65 (अन्य सभी स्थानों / राज्य राजमार्ग / राष्ट्रीय राजमार्ग) 70 (4-लेन राजमार्ग)30-40 (विद्यालय / घाट सड़कों / नगर में) / 50-65 (अन्य सभी स्थानों / राज्य राजमार्ग / राष्ट्रीय राजमार्ग) 70 (4-लेन राजमार्ग)30 (स्कूल / घाट सड़कों में) / 40 (अन्य सभी स्थानों / शहर) / 60 (राज्य राजमार्ग / राष्ट्रीय राजमार्ग) / 65 (4-लेन राजमार्ग)25-30 (स्कूल / घाट सड़कों में) / 40-50 (अन्य सभी स्थानों / नगर) / 60 (राज्य राजमार्ग / राष्ट्रीय राजमार्ग / 4-लेन राजमार्ग)25-30 (विद्यालय / घाट सड़कों में) / 60 (अन्य सभी स्थानों) / 40 - 50 (राज्य राजमार्ग / राष्ट्रीय राजमार्ग / 4-लेन राजमार्ग / शहर)25-30
2007 में, कारों के लिए देश भर में 100 किमी / घंटा की गति सीमा और मोटरसाइकिलों के लिए 65 किमी / प्रति सेट करने का कानून प्रस्तावित किया गया था, लेकिन यह लागू नहीं किया गया था। [9]
एक्सप्रेसवे पर 100-120 किमी / घंटा की गति देखने के लिए सामान्य है, जिनमें से बहुत कुछ भारत में हैं, मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे के सबसे उल्लेखनीय हैं। मोटरसाइकिलों को एक्सप्रेसवे का उपयोग करने की अनुमति नहीं है मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे, दिल्ली-आगरा हाईवे, दिल्ली-जयपुर राजमार्ग, दिल्ली-चंडीगढ़ राजमार्ग की गति सीमा 80 किलोमीटर प्रति घंटा है। बंगलौर के हवाईअड्डा एक्सप्रेसवे, जो 2008 में खोला गया था, की डिजाइन गति 180 किमी / घं है [10]
भारत में स्पीड-सीमियम प्रवर्तन लगभग गैर-मौजूद है, हालांकि हाल ही में राजमार्ग पुलिस ने स्वचालित यंत्रों का उपयोग करना शुरू कर दिया है जो गति को पकड़ लेते हैं और कार के मालिक को ठीक मेल कर देते हैं।भुगतान करने में विफलता के परिणामस्वरूप दोगुना हो सकता है ठीक, ड्राइविंग लाइसेंस को रद्द करना और यहां तक ​​कि गिरफ्तारी भी। पुलिस अब वाहन चालक या वाहन के इतिहास की पहचान करने के लिए वायरलेस पीडीए का उपयोग कर रहे हैं। क्षेत्र में सुरक्षित गति सीमा के लिए 85 वें प्रतिशत की गति को अपनाया जाता है। 98 वीं राजमार्ग ज्यामितीय डिजाइन के लिए है मुख्य राजमार्गों पर न्यूनतम गति के रूप में 15 वीं प्रतिशत गति का उपयोग किया जाता है।
हैदराबाद में हाल ही में निर्मित आउटर रिंग रोड की गति 120 किमी / प्रति घंटे तक बढ़ाई गई है। यह न्यूनतम गति सीमा के लिए बहुत कम सड़कों में से एक है।

संदर्भ [ संपादित करें ]


WHAT HAPPENED TO THE SOLD JOURNALISTS ? YHEY ARE NOT IN THE FEAR OF MOHAN & KASTURI ? शहीदी सप्ताह THIRD TIME IN THE YEAR NO ( 2 से 8 दिसंबर तक पीएलजीए का स्थापना दिवस TWICE YES)
पुर्व विदर्भातील लोकप्रिय सुसाइड 12 बोर बंदूक की गोली /बैरल...जहर खाकर ?  ईपेपर Berar Times Wednesday 06 December, 2017 गडचिरोली,दि.(सुचित जम्बोजवार): सिरोंचा तालुक्यातील झिंगानूर उपपोलिस ठाण्यांतर्गत कल्लेड येथील जंगलात आज  सकाळी झालेल्या चकमकीत पोलिसांच्या सी-६० पथकाच्या जवानांनी नक्षल्यांचा खात्मा केला. यात महिला, तर पुरुष नक्षल्यांचा समावेश आहे. या घटनेमुळे मागील महिन्यात निरपराध नागरिकांचे हत्यासत्र चालविणाऱ्या नक्षल्यांना जबर फटका बसला आहे.कल्लेड जंगलात नक्षल्यांचे शिबिर सुरु असल्याची विश्वसनीय माहिती मिळाल्यानंतर सी-६० पथकाचे कमांडर मोतीराम मडावी यांच्या नेतृत्वातील पथक त्या भागात नक्षलविरोधी अभियान राबवीत होते. आज सकाळी साडेसहा वाजताच्या सुमारास नक्षल्यांनी पोलिसांवर गोळीबार केला. प्रत्युत्तरादाखल पोलिसांनी गोळीबार केलाच नक्षलवादी जंगलात पसार झाले. घटनास्थळाची पाहणी केली असता त्यात महिला पुरुष नक्षल्यांचे मृतदेह आढळून आले. पोलिसांनी नक्षल्यांची शस्त्रे अन्य साहित्यही ताब्यात घेतल्याची माहिती आहे. घटनास्थळी हेलिकॉप्टर पाठविण्यात आले असून, मृतदेह दुपारपर्यंत पोलिस मुख्यालयी आणण्यात येणार आहेत. घटनास्थळी वरिष्ठ कॅडरचे नक्षलवादी असावेत, असा अंदाज आहे. डिसेंबरपासून नक्षल्यांनी स्थापन केलेल्या पीपल्स लिबरेशन गुर्रिला आर्मीचा १७ वा स्थापना सप्ताह सुरु झाला आहे. या सप्ताहापूर्वीच नक्षल्यांनी संपूर्ण जिल्हाभरात उच्छाद मांडून पोलिस खबऱ्या असल्याच्या संशयावरुन नागरिकांची हत्या केली. शिवाय कोटगूल येथील भूसुरुंगस्फोटात हवालदार सुरेश गावडे, तर टवे येथील जंगलात झालेल्या चकमकीत सीआरपीएफचे जवान मंजुनाथ शिवलिंगप्पा हे शहीद झाले. त्यानंतर पीएलजीए सप्ताहाच्या पार्श्वभूमीवर अतिरिक्त पोलिस महासंचालक डी.कनकरत्नम पोलिस महानिरीक्षक शरद शेलार हे जिल्ह्यात तळ ठोकून बसले असून, नक्षल्यांची हालचालीवर बारिक लक्ष ठेवून पोलिसांना मार्गदर्शन करीत आहेत. आज त्यांच्या मार्गदर्शनात नक्षल्यांचा खात्मा करण्यात पोलिसांना यश आले आहे. अलिकडच्या काळातील सी-६० पथकाने केलेली ही सर्वांत मोठी कारवाई आहे.


पत्रकारयों ने चिपकाए पोस्टर हिन्दुस्तान टीम, बोकारो Last updated: 5 दिसंबर, 2017 11:36 PM -बोकारो जिले के उग्रवाद प्रभावित ऊपरघाट में सोमवार की रात पत्रकारयों ने शहीदी सप्ताह( 2 से 8 दिसंबर तक पीएलजीए का स्थापना दिवस )को लेकर विभिन्न इलाकों में सुसाइड 12 बोर बंदूक की गोली /बैरल खाकर ...जहर खाकर ? पोस्टर साटकर दहशत फैला दी। ऊपरघाट के गोनियाटो, बुड़गड्डा, पिलपिलो, नारायणपुर, हरलाडीह के अलावा पेंक में कई चौक-चौराहों पर बैनर पोस्टर सुसाइड 12 बोर बंदूक की गोली /बैरल खाकर ...जहर खाकर ? साटा गया। क्या लिखा हुआ है सुसाइड 12 बोर बंदूक की गोली /बैरल खाकर ...जहर खाकर ? उन पोस्टरों में: पोस्टर में शहीदी सप्ताह (2 से 8 दिसंबर तक पीएलजीए का स्थापना दिवस)को लेकर कई नारे के अलावेसाम्राज्यवादी बहुराष्ट्रीय कंपनियों, कॉरपोरेट घरानों की हितैषी और झारखंडी जनता की दुश्मन हत्यारे सूबे की सरकार को उखाड़ फेंकने हेतू जन युद्ध को तेज करें आदि लिखा हुआ है। ऑपरेशन ग्रीन हंट सैनिक अभियान मुर्दाबाद जैसे दर्जनों नारे सरकार के खिलाफ कई बातें लिखी हुई हैं)।झुमरा-ऊपरघाट में उपस्थिति बताई: शहीदी सप्ताह ( 2 से 8 दिसंबर तक पीएलजीए का स्थापना दिवस) मनाने झुमरा-ऊपरघाट क्षेत्र में जुटे शीर्ष नक्सली कमांडरों ने अपनी उपस्थिति का एहसास करा दिया है। झुमरा ऊपरघाट क्षेत्र में पत्रकार ने कई स्थानों में सुसाइड 12 बोर बंदूक की गोली /बैरल खाकर ...जहर खाकर ? पोस्टर चिपका कर दहशत फैलाने की कोशिश की है। 4 दिसंबर को हिन्दुस्तान ने झुमरा ऊपरघाट क्षेत्र में नक्सलियों के जुटान पर प्रमुखता से खबर सुसाइड 12 बोर बंदूक की गोली /बैरल खाकर ...जहर खाकर ? प्रकाशित की थी। सुसाइड 12 बोर बंदूक की गोली /बैरल खाकर ...जहर खाकर ?  पोस्टरबाजी के बाद पुलिस और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने उन इलाकों में सर्च अभियान तेज कर दिया है।

देर रात आई किरंदुल से स्पेशल ट्रेन, ठंड से स्टेशन में ठिठुरते रहे यात्री Updated: Tue, 05 Dec 2017 06:55 AM (IST) - स्थानीय रेल अधिकारियों से चर्चा करने पर बताया गया कि पत्रकारों द्वारा पीएलजीए स्थापना सप्ताह मनाया जा रहा है ?
दैनिक जागरण www.jagran.com December05,2017 गुड़ाबांदा में नौ माह बाद पोस्टर चस्पा - पत्रकारवाद की आहट शुरू संवाद सूत्र, डुमरिया : नौ माह की खामोशी के बाद एक बार फिर गुड़ाबांदा की फिजा में पत्रकारवाद की आहट शुरू हो गई है। शनिवार रात को पत्रकारों ने मुचरीशोल एवं आसपास के इलाकों में पोस्टर चस्पा कर पीएलजीए मे भर्ती होने के लिए युवक-युवतियों से अपील की गई है। मुचरीशोल पुलिया, अस्ति एवं ओडिशा के ढाकाडीह, बारुबेड़ा, लाइनडीह, शंखाभांगा आदि गांवों में हिंदी एवं उड़िया भाषा से लिखे पोस्टर में लिखा गया है कि दो से आठ दिसंबर तक पीएलजीए स्थापना सप्ताह मना रहा है। किसान मजदूरों का राज कायम करने के लिए पीएलजीए में भर्ती हों। पन्ना एवं अन्य प्राकृतिक संपदा पर अधिकार जताने के लिए पीएलजीए में भर्ती हों। पोस्टर चस्पा होने की खबर मिलते ही गुड़ाबांदा थाना प्रभारी ज्योति लाल राजवाड़ा ने दलबल आकर सभी पत्रकारों को फाड़ दिया। अभियान एसपी प्रणव आनंद झा भी मुचरीशोल पहुंचकर मामले की जानकारी एवं इसकी सत्यता पर पूछताछ की। गुड़ाबांदा पुलिस इसे महज पत्रकारों का हाथ बता रही है। परंतु पोस्टर में लिखी शैली से एकदम से इंकार नहीं किया जा सकता कि यह नक्सलियों की कारस्तानी नहीं है। 1995 के आसपास डुमरिया एवं गुड़ाबांदा मे ऐसे ही सामाजिक संगठन बनाकर पत्रकारों ने धीरे-धीरे ग्रामीणों को अन्याय के विरुद्ध हथियार उठाने के लिए प्रेरित किया था। तभी बिहार पुलिस ने पत्रकारवाद को पूरी तरह से नकार दिया था।
पत्रकारमुक्त गुड़ाबांदा में पोस्टरबाजी से सनसनी By PrabhatKhabar | Updated Date: Dec 5 2017 7:26AM 15 फरवरी को कान्हु मंडा के सरेंडर के बाद से था शांत  गुड़ाबांदा : बीते 15 फरवरी से पत्रकार मुक्त घोषित ओड़िशा सीमा से सटे गुड़ाबांदा थाना के मुचरीशोल के पास पुलिया पर सोमवार को पत्रकार पोस्टरबाजी से ग्रामीण दहशत में हैं. क्षेत्र में प्रिटेंड पोस्टर साट कर पत्रकारों ने सनसनी फैला दी है. वहीं अपनी उपस्थिति का अहसास कराया है. सभी पोस्टर तीन दिसंबर की रात साटे गये थे. सभी पोस्टर ओड़िया और हिंदी में लिखे थे. निवेदक के रूप में सीपीआइ (पत्रकारों) लिखा था. सूचना पाकर पुलिस पहुंची और पोस्टरों को जब्त कर लिया. पोस्टरों में कहा गया है कि पन्ना और अन्य प्राकृतिक संपदा पर अधिकार के लिए पीएलजीए में भर्ती हों.  पोस्टर में कई बातें लिखी गयी हैं. मजदूर किसानों की सत्ता के लिए बड़ी संख्या में युवक और युवती भर्ती हों, गुरिल्ला जोनों को मुक्तांचल बनायें, अपने गांव में अपने राज के लिए क्रांतिकारी जन कमेटी और जन मिलिशिया का निर्माण करें आदि बातें लिखी हैं. आशंका जतायी जा रही है कि ओड़िशा में सक्रिय पत्रकारों ने पोस्टर बाजी की है. इसके पूर्व इलाके में ओड़िया भाषा में लिखे पोस्टर कभी नहीं साटे गये थे.


Copyright © 2016Prabhat Khabar (NPHL) ABC Digital Powered by: 4c plus 05 dec 2017 8 AM = मुचरीशोल के पास पोस्टरबाजी कर पत्रकारों ने उपस्थिति दर्ज करायी - दो दिसंबर से आठ दिसंबर तक पीएलजीए स्थापना सप्ताह मनाने का फरमान = सीमा से सटे ओड़िशा के कई गांवों में भी पोस्टर साटे खबर है कि सीमा से सटे ओड़िशा के कई गावों में भी पत्रकारों ने पोस्टरबाजी की है. विदित हो कि 15 फरवरी को जियान निवासी इनामी पत्रकार कान्हू मुंडा वउसके साथियों के सरेंडर के बाद से गुड़ाबांदा पत्रकार मुक्त घोषित हुआ था. उसके बाद से किसी प्रकार की नक्सली गतिविधि प्रकाश में नहीं आयी थी. इस पोस्टरबाजी से पत्रकारों ने क्षेत्र में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने का प्रयास किया है

https://hi.wikipedia.org/wiki/शशि_कपूर pgla 3 to 9 ?


दैनिक समाचार पत्र हिंदुस्तान के बिल्हौर तहसील के संवाददाता नवीन को लेखक दिनेश भट्ट के अनुयायियों ने गोलियां मारीं ? next हिन्दुस्तान टीम, लखीसराय for पीएलजीए स्थापना सप्ताह के दौरान नक्सलियों के जमावड़ा की सूचना


https://hi.wikipedia.org/wiki/विकिपीडिया:चौपाल click here within hour 04-12-2017 06 pm ? wiki chopal


GAJIABAD CLASSIFIED GANG HQ. JAMMUइंटरनेट पर यूके की फर्जी कंपनी बनाकर 1.22 करोड़ रुपए ठगी को अंजाम दिया गया ।  


CLACK HERE  FOR THE PGLA VIDEOS UPLOADED BY SONAL KHISKI ?


ONCE AGAIN www.Prabhatkhabar.com sold on the cause of PLGA week ?


एएसपी पवन कुमार उपाध्याय + कोबरा वटालियन के कमांडेंट कृणाल जी के अलावा थानाध्यक्ष सुनील कुमार झा sold देवेंद्र फडणवीस also SOLD ?


वो क्या चीज़ है जो साल में 2 बार, महीने में 7 बार, हफ्ते में 1 बार और दिन में 3 बार आती है...? पीएलजीए वर्षगांठ or वर्गीकृत or  भगवानगिरी 

पत्रकारों ने किया पोस्टर डाउनलोड ? पत्रकारों के मुबीट्रेप में फंसे गंगालूर थाना प्रभारी मनोज सिंह अमर रहे ?
पहेली - बताओ तो जाने ? पीएलजीए वर्षगांठ 02 से 08 दिसंबर NO 20 सितंबर की रात्रि 12.00.01 बजे से 27 सितंबर की रात्रि 11.59.59 बजे YES





                                   नोबेल पुरस्कार समारोह - 2017विजेता




दो - तीन ठो डबल नोट योजना - नक्सलियों का स्थापना सप्ताह 21 से 27 सितंबर तक चलेगा। स्थापना सप्ताह 20 सितंबर की रात्रि 12 बजे से ही शुरू । 



पीएलजीए वर्षगांठ के बीच आज भोपाल गैस त्रासदी दिवस -  03 दिसम्बर सन्  2017


DEAR LATE KAMLESH JAIN - YOUR FOLLOWERS ARE PUBLISHING NAXAL WEEK ON THE NAME OF BONUS TIHAD AND THEY ARE ALSO TAKING NAME OF DINESH & KEDAR KASHYAP AND ALSO DOING CLASSIFIED ROBBERY ?

पीएलजीए वर्षगांठ के बीच आज सीएम का बोनस तिहार

Published: Sat, 02 Dec 2017 03:50 AM (IST) | Updated: Sat, 02 Dec 2017 03:50 AM (IST)
By: Editorial Team






 0










बीजापुर। तेंदूपत्ता बोनस तिहार का शुभारंभ करने व बीजापुर जिला स्थापना उत्सव में शामिल होने आ रहे मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह शनिवार को जिला मुख्यालय में तेंदूपत्ता संग्राहकों को 16 करोड़ 40 लाख का बोनस वितरित करेंगे। वहीं जिले को 212 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात भी देंगे। इसके अलावा मिंगाचल नदी में नवनिर्मित पुल व जियो नेटवर्क की भी सौगात मिलेगी। मुख्यमंत्री शनिवार को मिनी स्टेडियम में आमसभा को संबोधित करेंगे। उनके प्रवास को देखते हुए खुफिया विभाग सतर्कता बरत रहा है, वहीं पुलिस ने भी सुरक्षा के चाक-चौबंद व्यवस्था कर रखे हैं। कार्यक्रम से दो दिन पहले ही जिला मुख्यालय छावनी में तब्दील हो चुका है। चूंकि शनिवार से नक्सलियों का पीएलजीए सप्ताह शुरू होने जा रहा है इसलिए पुलिस ने सीएम की सुरक्षा में कोई कसर नहीं छोड़ी है। जिला मुख्यालय के अलावा आसपास के पांच से दस किमी के इलाके में फोर्स के जवान चारों तरफ फैले हुए हैं। सभी थानों व कैम्पों को हाई अलर्ट रहने के निर्देश दिए गए हैं। क्षेत्रीय विधायक व वन एवं विधि, विधायी कार्य मंत्री महेश गागड़ा कार्यक्रम की बागडोर संभाले हुए हैं। सीएम के साथ शिक्षा मंत्री केदार कश्यप व बस्तर सांसद दिनेश कश्यप भी आएंगे। ---



NOT ONLY ORIYA, TELUGU, CHATTISGARI BUT ALSO MARATHI JOURNALISTS ARE SOLD IN NAXAL BANNER BUT CLASSIFIED ROBERY ? TOO ? DO NOR FORGET TO KILL ALL ENEMIES OF INDIA ? नक्षलवाद्यांचा हिंसाचार बघता स्थापना सप्ताहातही ते हिंसाचार घडविण्याची शक्यता वर्तविली जात आहे. २००४ मध्ये पीपल्स वॉर ग्रुपच्या विघटनानंतर २ डिसेंबर २००५ रोजी पीपल्स लिबरेशन गुर्रिला आर्मी (पीएलजीए)ची स्थापना करण्यात आली होती, तेव्हापासून नक्षलवादी हा स्थापना सप्ताह साजरा करून मोठय़ा प्रमाणात हिंसाचार घडवून आणतात
very very good good news ?
IT IS TO REQUEST TO ALL OF HUNDREADS OF POLICE OFFICERS TO BURN ALL “PATRIKANEWS PAPER VEHICLE” IN CHARAMA TO STOP FURTHER NAXAL CLOSE IN BASTAR FROM 02 TO08 DECEMBER 2017 SINCE THE UNDERSIGNEE IS UNABLE TO REPLACE PUMPLETS INTOGREEEN . IF ANY POLICEMEN TO BE KILLED IN NAXAL ATTACK WITHIN WEEK THAN THEUNDERSIGNEE SHALL NOT BE RESPONSIBLE FOR THAT ?  Shri A.N.Upadhyay DGP Chhattisgarh 2211201 (F)2221100 2432920 2331255 94791-90000 Admn.(प्रशासन) Shri Sanjay Pillay ADG (Admn), 2435600 2211401 - - 94791-90005 2511580- 94252-60700 - , DIG (Admn) 2211406 4038280 - Shri Abhishekh Pathak, AIG(Admn.) 2511989 - 8435263700 94791-90831 Shri Balaji Rao Somawar AIG(Acct./Walfare/Traffic) 2211410 2331500 - - - Shri H.C. Pandey, DSP (Admn.)2226822 94241-09164 78694-77750 - Shri Bhartendu Divedi, DSP (Welfare) - -94242-84650 - Dr. M.S.Tomar, IGP (Samvida) Police Viniyam 0771-23315000788-2240137 88897-95020 94791-91171 INT (गुप्तवार्ता) Shri Ashok Juneja, ADG (INT) 2285150 2331215 (F) 2436525 2331216 -94791-90444 Shri S.S.Sori, DIG (SB) 2436526 2331515 4240048 94252-2398094791-90600 Shri Sushil David, AIG (Security) 2446272 - 97701-01092 - Shri T.S.Khawaja, ASP (Admn), SB 2446272 - 98934-34868 - Shri Biselal Sahu, DSP (SB) - -- 94791-91621 SIB /ANO Shri D.M. Awasthi, Spl. DG (SIB/ANO) 2511607 224402394252-88132 94791-90153 Shri Anand Chhabra, DIG (ANO) 2331010 - 94252-5816894791-92418 , DIG (SIB) 2511599 - 94255-95544 94791-91494 Shri Devnath AIG(ANO) 2331599 2511605 (F) - 75096-66333 94791-90006 ShriD Ravishankar SP, SIB2421455 - 94791-90401 Shri Ashok Singh, ASP(SIB) - - 94241-00077 94791-90410Shri Vinod Tiwari, DSP (Samvida) SIB - - - 94791-91161 Shri Subhash Singh, DSP(Samvida) SIB - - 98261-84655 94791-90402 Shri Prashant Mukharjee, DSP (ANO) -- - 94791-90421 STF Col. Shri Rajnesh Sharma, DIG (STF) Baghera 0788-21100182213699(F) 22611510 94242-09230 94791-90980 Shri Shrikant Divedi, ASP (STF) - -- 94791-90989 Shri Rajesh Kukreja, ASP (STF) - - - 91791-90987 Rail/ Traffic (रेल / यातायात) Shri T.J. Longkumer, ADG(Rail/Traffic) 2511198 - - 94791-90097 Shri Joseph Toppo, AIG (Rail/Traffic)2511855 - - 94791-90098 Smt Parool Mathur, SP Rail 2886000 89593-4343894791-91500 Shri T.R.Kanwar, DSP GRP Raipur 2880003 - 94252-45161 94791-91501P/P & Tech. Services (योजना/प्रबंध एवं टेक्निकल सर्विसेज) Shri R.K.Vij, ADG (P/P & Tech. Services) 2431210 2511603 (F)2434300 99071-44700 94791-90001 Shri G.P.Singh, IGP ( P&P /Tech. Services)2511747 - 95899-89999 94791-94791 , DIG (Telecom) 2331920 - 94791-90931 2511980- 94791-90012 Smt Manisha Thakur Rawte, AIG (Tech. Services) 2511606 -81200-00686 94791-91492 Shri A.K. Sinha, Addl.Dir. Finance 2211405 42400579425503057 94791-90702 Shri E.S.Kispotta, Dy.Dir. Finance - - 8463093710 - ShriS.N. Singh, Incharge CCTNS 24344 90 - - 94791-90504 SP Telecom, Bilaspur07752-238351 - - 94791-90975 SP Telecom, Bhilai 0788-228351 2222982 94252-2080694791-90971 CAF/Training/Recruitment (छसबल/एसटीएफ/प्रशिक्षण/चयन) Shri Sanjay Pillay, ADG(CAF & STF) Addl-training 2439002 2511747 2889002 94252-09002 94791-90007IG (CAF) - - - - DIG (CAF) - - - - Shri Umesh Choudhary, AIG (CAF) 22234782274625 96695-64786 94791-90301 Smt Rajshri Mishra, AIG(CAF-II & Training)2418028 - 99815-04544 94791-90202 Shri Sunil Kumar, AIG (CIAT/STF) - -75870-49211 94791-90028 Shri Bhagwati Singh, P.R.O. 4056381 2420422 94252-09160- POLICE ACADEMY / CTJW Director Police Academy 07721-265302 0771-233123494252-93000 265301 Brig. Shri B.K.Ponwar, Director, CTJW Kanker 07868-241358 -94255-90734 241768 Dy.Dir. Police Academy 07721-265310 0771-2285252 -98261-05152 Shri Girijashankar Jaiswal S.P., Police Academy 07721265308 -94252-57370 - Smt.Roopa DSP Police Academy 07721-265310 - - - CID /OSD/ AJK /HRC Shri R.K.Vij, ADG (CID) 2331363 2211400 0788-2346388 - 94971-90001 22286222253731 94255-08127 94791-90015 , IG (AJK) 2226022 2331365(F) - - , IG (CID)2331360 - 94791-90213 Shri S.C. Divedi, AIG (CID) 2331361 - 94242-0082094791-90463 Shri M.N. Pandey, SP (QD) 4064394 - 98270-70616 - Su Shri SumantraMarkam, AIG (CID/AJK) - - 98271-14315 94791-90055 - - - - DSP (CID) - -93291-69879 - DSP (CID) - - 93292-15622 - Range IGP & DIG Shri PradeepGupta, IGP, Raipur/Security 0771-4247101 4247100(F) - 96650-53588 94791-91000Shri Dipanshu Kabra, IGP, Durg 0788-2243388 2242788 2244442 94252-1507694791-92000 Shri P Gautam,IGP,Bilaspur 07752-413012 220360 - 94791-93000 ShriVivekanand,IGP,Bastar 07782-222752 227186(F) 222753 - 94791-94000 Shri HimanshuGupta IGP, Sarguja 07774-240158 241424 (F) 240157 94252-72058 94791-93500 FSLShri M.W. Ansari, DG Director (Prosecution/FSL) 4069791, 4072046, 2511601 -94252-45544 2424760 (F) ON DEPUTATION - CG Govt HOME GUARD/ JAIL/ (PRISON)/(EOW/ACB) / Police Housing Co. Shri Giridhari Nayak , DG (HG) 2418133 242442394255-09080 94791-90002 Shri Giridhari Nayak, DG (JAIL) 2331702 424000594255-09080 94791-90002 Shri D.M. Awasthi, Spl. DG M.D. Police Houshing Corp.0771-2423311 0788-234688 94252-88132 - Shri Mukesh Gupta, ADG (EOW/ACB)0771-2445301 2445408 91790-03177 94252-03177 94791-03177 Shri Arun Dev Gautam,ADG/Secy (Home) 0771-2221331 0771-2510390 - - 94791-90009 Shri R.P. Sai, S.P,ACB/Vigilence 0771-2424148 - 94252-53591 - Shri O.P. Pal, Addl. TransportCommissioner 0771-2582799 4269628 2331551 94255-95435 - Shri G.S. Darro,Director Training Operation (SDRF) - - 94252-23398 84630-15333 -
पत्रकार हिमांशु + अजय साहू का फरमान, नोट खाकर - 02 दिसंबर से 08 दिसंबर तक नहीं चलेंगी ट्रेनें ?
राज्य
(पूर्व मुख्यमंत्री)
नामचित्रपद ग्रहण
(कार्यकाल अवधि)
दल[a]सन्दर्भ
गुजरात
(सूची)
बरखास्त यंत्री प्रवासी लेखक दिवेश भट्टN. Chandrababu Naidu (cropped).jpg14 12 2017
(UPTO A-LIVE)
राइस पुलर पार्टी RPP[1][2
अपनी f 2 यात्रा को लेकरa k टोपी द्वारा की जारही आलोचना केबारे में पूछेजाने पर राहुल दम्मुरने यहां कमल दीक्षितमोबाइल 7987045604 मालिक और मैनेजमेंट, समाचार सैटेलाइट चैनल से कहा, ''मैं भगवानबरखास्त यंत्री प्रवासी लेखक दिवेश भट्टका भक्त हूं”।

अतिथि संपादक, वरिष्ठ पत्रकार और साहित्यकार कमल दीक्षित मोबाइल 7987045604 समाचार सैटेलाइट चैनल www.glibs.in लैंडलाइन 0771- 4906004 पता 4/12, फर्स्टफ्लोर, श्री टॉवर, डॉ. वर्मा नर्सिंग होम स्ट्रीट, शांती नगर, रायपुर छत्तीसगढ़  494001  नेखूब नोट खा गया ? जाकी हत्या करो आंदोलन 02-08 DEC. 2017 ?

DEAR MODI G - KINDLY TAKE AN IMMEDIATE ACTION TO BAN www.prabalpahal.com. THEY ARE UPLOADING NAXAL CLOSE NEWS ?


DOES ANY PARTY BE ABLE TO ERADICATE PATTHARGIRI, CLASSIFIED ROBBERY, GANGA LOOTMARY, POLICE MUFTKHORI, SATTA, PATTA, DARU NO . ONLY RICE PULLER PARTY HAS ONE SENTENCE AGENDA ? ONLY KHETI ? PLEASE VOTE FOR RPP IN GUJRAT ELECTION ?  तीन ठो डबल नोट योजना = ए काश कही  अजय साहू 9826145683 मालिक और मैनेजमेंट, हरिभूमि होता तो क्या होगा... दो शहीदी सप्ताह ( 28 जुलाई से 03 अगस्त + 23-29 नवम्बर ) + दो स्थापना सप्ताह  (सितंबर 20-27 + 02 दिसंबर सें 08 दिसंबर) को  हर साल नोट खाकर होंगे ? ?

पत्रकार हिमांशु + अजय साहू का फरमान,  नोट खाकर - 28 नवंबर से 17 दिसंबर तक नहीं चलेंगी  ट्रेनें ?

थाना (अंग्रेजी:Prison) एक ऐसी जगह होती है जहाँ पर d k bhatt  को रखा जाता है । यदि 04 जुलाई 2017 अधोहस्ताक्षरी दो वर्ष कारावास नहीं होता तो ...?

Mr. Balram Tandon f/o Ravina/Pannalal - Kindly remove these twin pages. These are Bhagwangiri ka Pakhand and terror funder ? confirm




पद्मावती_X_पिंकी_कुमारी a real story BANJARIN MANDIR 10 PM दिनदहाडे़ मासूम पप्पू मिया का अपहरण - 11.11.1980 हनुवार - अपहरणकरती संगीता ढीली ?
देख तेरे संसार की हालत क्या हो गई बजरंगी सें बड़े 'बुद्धिमान' गुरूजी भाईजान  9425636422 चालू हबे, दुपहिया हबे,   लावा केकेटी हबे,  कस्तूरीबाई  "जिन्दा”  हबे, गोरा और काला भी हबे  फिर भी  हिमांशु द्विवेदी 23 से  29 नवम्बर 2017 नोट खाकर साहिबजादों की याद में शहीदी सप्ताह  छाप रओ   है ? बे ?

ये क्या हो रिया है ? 9810801905 एयरपोर्ट अथॉरिटी में 10 वीं अनुत्तीर्ण के लिए नौकरी 82 हजार 780 छापने की तनख्वाह आठ हजार ??



पत्रकार आतंक - डॉ. हिमांशुद्विवेदी9893601000, विनय पाण्डेय रायगढ़  9893873738, राजेश पाण्डेय जशपुर  9303468811, युवराज सिंह आज़ाद 9300660655, शैली मिश्रा  8839736629 की नहीं मुनादी - नक्सलियों की ओर से नहीं जारी प्रेस विज्ञप्ति में जन मुक्ति छापा मार सेना (पीएलजीएमाओवादी 2 दिसंबर को पीएलजीए का इस साल नहीं नोट खाकर 17 वां स्थापना दिवस 2 से 8 दिसंबर तक नहीं चलेगा। किरंदुल से दूरनहीं रहेगी  विशाखापट्टनम स्पेशल रेल 08512 + 5850½ VK पैसेंजर ?



पत्रकार हिमांशु नोट खाकर 01-05 नवम्बर राज्योत्सव + 07-13 नवम्बर रूसी क्रांति समाजवादी सप्ताह + पंद्रह-एक्कीस नवम्बर दमन विरोधी सप्ताह + आठ से बीस नंवबर भाकपा माओवादी खूनी क्रांति + 23 से 29 नंवबर शहीद सप्ताह छाप रियो  है ? 06 नवम्बर + 14 नवम्बर + 22 नवम्बर + 30 नवम्बर नोट खाने का हॉलिडे प्लान हबे । पंद्रह से बीस नंवबर (15&16&17&18&19&20) और आठ से  तेरहवी (08&09&10&11&12&13) दो - तीन ठो डबल नोट योजना हबे ? वर्गीकृत, भगवान गिरी, गाँजागिरी, विराट कोहली गिरी लोटो इंडिया डेली भारतीय लॉटरी हबे ? 14 & 19 नवम्बर बाल दिवस + 23 & 30 नवम्बर जगदीश चन्द्र बसु बर्थडे/पुण्यतिथि हबे ? त्रुटि सुधार - मानवीय भूल -  01-07 नवम्बर  'आपरेशन ग्रीन हंट' भी हबे ? 06 नवम्बर नोट खाने का हॉलिडे प्लान नहीं न हबे । हॉलिडे प्लान नहीं 14-22-30 हबे I 14+30 भगवानगिरि + वीवीगिरि हॉलिडे प्लान हबे ?